कुछ जुड़े थे और कुछ बाद मे जोड़े गए–अमरेश सिंह भदौरिया

Facebook
Twitter
LinkedIn

कुछ जुड़े थे और कुछ बाद मे जोड़े गए।
संबंध-शिला पर रखकर वायदे तोड़े गए।
रहनुमाओं पर सियासी रंग जब तारी हुआ,
आश्वासन के पटाख़े फिर वहीं फोड़े गए।
अमरेश सिंह भदौरिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial