नये वर्ष की हार्दिक शुभकामनाये–विश्वनाथ शिरढोणकर

Vishwanath Shirdhonkar December 31, 2014 ·   नवीन वर्षाच्या हार्दिक शुभेच्छा / नये वर्ष की हार्दिक शुभकामनाये ———————————————————————————- आज मनाले जाता साल कल मनाना आता साल !! जेब भले तेरी खाली हो पीकर हो जा मालामाल !! पानी मोफत ,बिजली Read More …

मगर मेरे भाई न शादी रचाना.—–इंजी० अम्बरीष श्रीवास्तव ‘अम्बर’

(समसामयिक हास्य-व्यंग्य रचना) मगर मेरे भाई न शादी रचाना. अगर तुमको आये न खाना पकाना पड़े भूख से आये दिन बिलबिलाना बटन चेन गायब कभी मत लजाना सो बेचारगी में पड़े पिनपिनाना भले भाभियाँ मार दें रोज ताना मगर मेरे Read More …

-जीवन एक रंगमंच — डा प्रवीण कुमार श्रीवास्तव

————-जीवन एक रंगमंच ——–  जीवन एक रंगमंच है । और इसमें अभिनय करने वाले पात्र कठपुतलियाँ हैं । इन सजीव पात्रों का सूत्रधार कोई अदृश्य शक्ति है , जो जितना सशक्त अभिनय कर लेता है वो उतना अच्छा कलाकार होता Read More …

मोबाइल की माया, बना इंसानी हमसाया–अमित शर्मा (CA)

                मोबाइल की माया, बना इंसानी हमसाया हर इंसान अपने जीवन में एक अच्छे जीवन साथी की कामना करता है और इसके लिए कभी मना नहीं करता है क्योंकि अकेलापन और सुख-चैन से Read More …

चुनाव विशेष // पत्थरों की बारिश //–Vishwanath Shirdhonkar

Vishwanath Shirdhonkar April 16, 2014 · चुनाव विशेष // पत्थरों की बारिश // ————– फिर कोई पत्थर आया घर के शीशे तड़का गया !! फिर कोई पत्थर आया किसीने ऊपर ही लपक लिया !! फिर कोई पत्थर आया आसमान फट Read More …

घर की मुर्गी लेकिन उपचार बराबर—अमित शर्मा (CA)

   घर की मुर्गी लेकिन उपचार बराबर घर की मुर्गी दाल बराबर मानी जाती है लेकिन ये कहावत घरेलू उपचारो के मामले में उबली हुई दाल के बदले दाल-मखनी ही सिद्ध होती है क्योंकि हम हिंदुस्तानी घरेलू उपचारो के मामले Read More …

डिजिटल हो जाओ,गुलामी–पलाश विश्वास

डिजिटल हो जाओ।गुलामी दांव पर है तो गुलामगिरि का का होय? ओकर तो बावन इंच मोट सीना है।कांधा मोठा मजबूतै होय।अब बटाटा सस्ता हो कि महंगा हो कांदा,उस कांधे पर देश का बोझ है।जनता गउ ह।अर्थव्यवस्था कोल्ही का बैल।सांसद का Read More …