मैं हूँ कितना अमीर मत पूछो—अनुराग ‘अतुल’

अनुराग ‘अतुल’ कुछ_शेर 🇮🇳🙏❤….. मैं हूँ कितना अमीर मत पूछो, पास मेरे कोई कमी है क्या! उसको लगता नहीं है पर देखो, मेरी आँखों में कुछ नमी है क्या! मेरे हर ओर रोते जंगल हैं, पेड़, नदियाँ उदास हैं गुमसुम, Read More …

तन्हाई भी रफ़ीक़ है ख़ुद से गुफ्तगू का सिलसिला—-शबाना के. आरिफ़

Shabana K Aarif 3:12 AM (8 hours ago) to me तन्हाई भी रफ़ीक़ है ख़ुद से गुफ्तगू का सिलसिला चलता है शब्-ओ-सहर ख्वाहिशों में खो जाने का सिलसिला चलता है शबाना के. आरिफ़

बेजार मोहब्बत है ,तसब्बुर -ऐ—धर्मेन्द्र मिश्र

Sher- 1-बेजार मोहब्बत है ,तसब्बुर -ऐ -अहसास में ही जीने दे . ऐ खुदा हकीकत से रूबरू न करा ,वहम में ही जीने दे. 2- जिंदगी एक तमाशा है ये तमाशा रोज देखता हूँ . फिरभी न जाने क्यों कल Read More …

तुम्हे अमीरी का गुमान—धर्मेन्द्र मिश्र

6-तुम्हे अमीरी का गुमान, तो तुम चलो सीना तान. जो मिला मुझे  मैं तो, सब से करू दुआ -सलाम . 7-तुम अपने रस्ते चलो मैं अपने रस्ते चलूँ , कब तक तुझे याद कर के जीता रहूँगा , कब तक Read More …