भारतीय संविधान किसने बनाया (सर्वे के नतीजे)—-डॉ. पुरुषोत्तम मीणा ‘निरंकुश’

भारतीय संविधान किसने बनाया-सर्वे के नतीजे भारत एक लोकतांत्रित गणतंत्र है। इस वजह से सरकार और प्रशासन के संचालन में भारत के संविधान का सर्वाधिक महत्व है। सरकार और प्रशासन के सफल संचालन के लिये देश के लोगों को संविधान Read More …

हिंन्दी का स्थान—-प्रभा पारीक

हिंन्दी का स्थान विश्व हिंन्दी दिवस:सरकारी संम्मेलनों में हमदर्दी लेने के बजाय हिंन्दी की समृद्धि पर करें काम। हिंन्दी के उद्धार के नाम पर हमें इसका तमाशा नहीं बनाना चाहिय,े सरकार और जो लेखक हिंन्दी के लिये जो रोना घोना Read More …

मन के रावण का वध कौन करेगा?—-प्रभा पारीक

हमारे भी हैं बुराई रूपी दस सिर, मन के रावण का वध कौन करेगा? दशहरा पर्व हैं असत्य पर सत्य की विजय का अच्छाई पर बुराई की जीत का भगवान् राम ने दस सिर वाले रावण को यु़द्ध में परास्त Read More …

राष्ट्रकविःरामधारी सिंह दिनकर —-लाल बिहारी लाल

जन्मतिथि23 सितम्बरपर विशेष राष्ट्रकविःरामधारी सिंह दिनकर *लाल बिहारी लाल जन्मः 23 सितम्बर 1908 देहान्तः 24 अप्रैल 1974 आधुनिक हिंदी काव्यजगतमें राष्ट्रीय सांस्कृतिक चेतना का शंखनाद करने वाले तथा युग चारण नाम से विख्यातवीर रस के कवि रुप में स्थापित हैं।दिनकर Read More …

रोज कुआं खोदते रोज पानी पीते दिहाड़ी मजदूर– डा प्रवीण कुमार श्रीवास्तव

रोज कुआं खोदते रोज पानी पीते दिहाड़ी मजदूर । प्रात : काल जब ग्राम वासी जागअपनी दिनचर्या पूरी करते हैं , तब उनमें से कुछ ग्रामीण गाँव छोड़ कर शहर की तरफ पलायन करते दिखते हैं । बड़े –बड़े शहरों Read More …

हे देवि! अब मृजया रक्ष्यते को लेकर हमारी शर्मिंदगी भी स्‍वीकार करें—अलकनंदा सिंह

हे देवि! अब मृजया रक्ष्यते को लेकर हमारी शर्मिंदगी भी स्‍वीकार करें durga-puja-sindur-khela-painting-by-ananta-mandal अतिवाद कोई भी हो, वह सदैव संबंधित विषय की उत्‍सुकता को नष्‍ट कर देता है। अति  की घृणा, प्रमाद, सुंदरता, वैमनस्‍य, भोजन, भूख, जिस तरह जीवन को Read More …

आधुनिक कविता के गुण दोष —–सुशील शर्मा

आधुनिक कविता के गुण दोष सुशील शर्मा आधुनिक कविता परंपरागत कविता से आगे नये भावबोधों की अभिव्यक्ति के साथ ही नये मूल्यों और नये शिल्प-विधान का अन्वेषण करने वाली कविता है ।प्रत्येक भाषा की अपनी निजस्व छन्दोयोजनाएँ और शैलियाँ हैं। Read More …

भारत में हिंदी सप्ताह—Sumangal Singh

भारत में  हिंदी सप्ताह  सभी सरकारी /गैरसरकारी कार्यालयों में  संघ की राजभाषा नीति के   अधिनियम ,१९६३ के अधीन मनाया जाता है |  वाराणसी काशी  उत्तर प्रदेश जिसे हिंदी भाषी प्रदेश कहा जाता है , से मुझे मुख्य बक्ता के Read More …

कविताओं से गायब होता देश का अन्नदाता—- मोनिका मीना

कविताओं से गायब होता देश का अन्नदाता मोनिका मीना उवदनउममदं8010/हउंपसण्बवउ सारांश – भारत की जनंसख्या का अधिकांश प्रतिशत कृषि पर निर्भर करता है। देश की अर्थव्यवस्था में सदैव कृषि की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। साहित्य में भी किसान एक जमाने Read More …