दीपावली — Kirti Vardhan

दीपावली

Inboxx
Kirti Vardhan 7:20 AM (11 hours ago)
to kirti, bcc: me

छोटी सी चिंगारी ..
अमावस्या के गहन अन्धकार मेंछोटे-छोटे दीप जलानामानव का सपना होता हैअन्धकार को पूर्ण मिटाना |
एक छोटी सी चिंगारीअंधकार की हंसी उडाती हैदूर कहीं से दिख जाती हैआशा की राह बताती है |
अन्धकार अपने यौवन परचिंगारी का शैशव हैफिर भी वह न जीत सकायह अच्छाई का गौरव है |
जीवन के हर पल में तुम भीनैतिकता के दीप जलाओनिराश भाव को दूर भगाकरघर -घर में उजियारा लाओ|भ्रष्ट आचरण की आंधी मेंसच्चाई की जोत जलाओअपने उत्तम कार्यों द्वाराअच्छाई को अमिट बनाओ |
सुख समृधि की अभिलाषा सेपाप को तुम न गले लगाओअच्छाई की चिंगारी बनकरभटकों को तुम राह दिखाओ |
विकसित देश बनाने खातिरशिक्षा के तुम दीप जलाओअज्ञान को पूर्ण मिटाकरभारत को विश्व गुरु बनाओ |
डॉ अ कीर्तिवर्धन8265821800

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Twitter
LinkedIn
INSTAGRAM