पूज्य अटल जी को पुण्यतिथि पर भावुक श्रद्धांजलि–अनुराग ‘अतुल’

अनुराग ‘अतुल’13 hrs ·  पूज्य अटल जी को पुण्यतिथि पर भावुक श्रद्धांजलि। आपके शरीर का अन्त हो गया है किन्तु आपका कवि ध्रुव तारे की भाँति सदैव अटल रहेगा।🙏🇮🇳

सच्चाई यह है कि
केवल ऊँचाई ही काफ़ी नहीं होती,
सबसे अलग-थलग,
परिवेश से पृथक,
अपनों से कटा-बँटा,
शून्य में अकेला खड़ा होना,
पहाड़ की महानता नहीं, ,मजबूरी है.

ऊँचाई और गहराई में
आकाश-पाताल की दूरी है.
जो जितना ऊँचा,
उतना एकाकी होता है,
हर भार को स्वयं ढोता है,
चेहरे पर मुस्कानें चिपका,
मन ही मन रोता है.

-अटल बिहारी वाजपेयी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Twitter
LinkedIn
INSTAGRAM