वास्तविक वृक्षारोपण–सतीश वर्मा

वास्तविक वृक्षारोपण

Inboxx
Satish Verma 2:31 PM (2 hours ago)
to me
🌿
🌿
🌿
🌿
🌿
🌿
🌿

मंदिरों में बँटे अब यही प्रसाद,एक पौधा और थोड़ी सी खाद 
अब मस्जिद में यही अजान,दरख्त लगाए हर इंसान ।
अब गूंजे गुरूद्वारों में वाणी,दे हर बंदा पौधों को पानी ।
सभी चर्च दें अब शिक्षा,वृक्षारोपण  हम सभी की इच्छा 
सरल सघन लहलहाते पौधेजब बन जाएं

अमृत तुल्य बरसाने वालेजीवन सरल सहज बन

जायेविश्व को पालने वाला,हर इंसा पले, तरुवर की

छाया मेंभूल कर गम और रुकसाईआनंद मगन हो जाए

सब कुछएक पौधा लगाने वाला

।एक एक कर ग्यारह बनेग्यारह बने हजारो में,

लगते जाओ,लगाते जाओपेड़ पौधों की पीढ़ी बढ़ाते 

जाओबढ़ाते जाओ,जीवन सरल सहज बनाते जाओ।

सतीश वर्मा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Twitter
LinkedIn
INSTAGRAM