जो परचम ये थमाया है–डा. प्रवीण कुमार श्रीवास्तव

जो परचम ये थमाया है, उसे झुकने नही देंगे ।

Inboxx
Praveen Kumar Fri, May 10, 5:20 PM (12 hours ago)
to me

जो परचम ये थमाया है, उसे झुकने  नही देगें।

लगी जो आग सीने  में, उसे बुझने  नहों देगें।

ये छलिये देश  को छलकर कहां जायेंगे बचकर के ।

जो  वापस देश  में आये, इन्हे जीने नही देगें।
डा. प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, सीतापुर 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Twitter
LinkedIn
INSTAGRAM