कभी किस्से में मिलती है—अमरेश सिंह भदोरिया

Amresh Singh

1:45 PM (21 hours ago)
to me

कभी किस्से में मिलती है
कभी मिलती  कहानी में।
सुखद अहसास-सी है वो
महकती   रातरानी     में।
करुँ तारीफ़  भी  कितनी
भला उसके हुनर  की  मैं,
एक मुस्कान से अपनी वो
वह लगाती आग पानी में।

अमरेश सिंह भदोरिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Twitter
LinkedIn
INSTAGRAM