सनातन धर्म है अपना ,इसी से आन हमारी है —रवि कलाल

सनातन धर्म है अपना ,इसी से आन हमारी है ।

मिट न पाये जो किसी से, वही पहचान हमारी है ।।

न जाने क्यों भटकता है,आज मेरे देश का युवा

विवेकानंद से  युवा,तभी तो शान हमारी है ।।

रचनाकार:-रवि कलाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Twitter
LinkedIn
INSTAGRAM