धर्म के ठेकेदार—Blogger

धर्म के ठेकेदार

Inbox

Add star

Blogger

<no-reply@blogger.com>

Fri, Mar 31, 2017 at 12:35 PM
To: swargvibha@gmail.com
मैं जानू धर्म क्या है
मैं जानू कर्म क्या है
नहीं देख नेता करता क्या है
देख राह की अड़चन क्या है
निरंतर आगे बढ़ना है
प्रेम की राह पर बढ़ना है
नेता तुम भटकना मत
धर्म को दूषित करना मत
ठेकेदारी से माल कमाना मत
धर्म के ठेकेदार बनना मत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Twitter
LinkedIn
INSTAGRAM