किस राह होगा मरना आसान,पूछना क्या है…Dr. Srimati Tara Singh

किस राह होगा मरना आसान,पूछना क्या है

मरना  जब तय है,मरने  से डरना क्या है

 

एक  दिन  मौत  खुद- ब- खुद  आयेगी

दिन उँगलियों की पोरों पर गिनना क्या है

 

मौसम  है हरे – भरे  पत्ते  निकलने  का

चमन   के  फ़ूलों  से  पूछना  क्या  है

 

जिसका न चेहरा,न बदन है,जो हवाओं के

संग उड़ता  रहता है,उसे  ढूँढ़ना  क्या है

 

यहाँ न  किसी का घर अपना,दुनिया एक

धर्मशाला,व्यर्थ होगा पूछना,ठिकाना क्या है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Twitter
LinkedIn
INSTAGRAM