tarasingh
Administrator Dr. Srimati Tara Singh


www.swargvibha.in






इक नन्हें दीपक के फव्वारे से

 

 

 

¤
इक नन्हें दीपक के फव्वारे से,
हम मिटायेंगे ये जग अंधियारा।
¤
स्वच्छ शुद्ध हो अपना भारत,
ऐसा होवे दृढ़ संकल्प हमारा।
¤
एक ही घाट सब पानी पीवें,
सिंह मृग करें स्वच्छन्द बिचारा।
¤
तब ही कहलायेगा विश्वगुरू,
ये भारत प्यारा देश हमारा।

 

 

 

 

युवा कवि सचिन 'गिर्जा'

 

 

 

HTML Comment Box is loading comments...