tarasingh
Administrator Dr. Srimati Tara Singh


www.swargvibha.in






"मुझे उड़ने दो "

 

mahila diwas

 

"मुझे उड़ने दो "

मुझे नीले गगन की ऊँचाइयों छूने दो ,

 बेशक मेरा सहयोग मत करो ,

मुझे पैसे भी मत दो ,

मेरे लिए चिंता भी मत करो ,

लेकिन इतनी गुजारिश है मुझे रोको भी मत ।

सुनो आखिरी आबाज यही है मेरी ~~~~~महिला दिवस

 

 

संजय कुमार अविनाश

 

 

 

HTML Comment Box is loading comments...