tarasingh
Administrator Dr. Srimati Tara Singh


www.swargvibha.in






होली

 

happy holi

 

हे कृष्ण
मुझे होली में रंग जाने दो,
शुद्ध पवन सा उड़ जाने दो,
गोकुल-वृन्दावन से आगे,
अल्मोड़े में आ जाने दो,
होली इतनी गा लेने दो,
फूल-गुलाल बन जाने दो,
आँखों के आगे-पीछे
मुझे पिचकारी भर लेने दो,
इस गुलाल सा उड़ जाने दो,
भाव साथ का आ जाने दो,
प्यार-दुलार कर लेने दो,
जिस राधा से तुम खेले हो,
जिन गोप-गोपियों से तुम जुड़े हो,
उन तक मेरा रंग पहुँचा दो,
सात रंगों के इस प्रकाश में,
सबको अपना रंग दिखला दो,
जुड़कर अपनी होली से,
उत्साह-उत्सव में हमें गवा लो,
मन का सारा तमस मिटा दो,
होली जैसा हमें बना दो,
रूक कर कोई रंग लगा दो,
हर होली में मुझे बुला लो ।
होली जहाँ-जहाँ जायेगी,
कुछ बुराई मिट जाएगी,
मुझे होली में रंग लगा दो,
गुणग्राही यों बन जाने दो,
मन पर कोई रंग लगा दो,
एहसास पुराने हमें लौटा दो ।

 

 

महेश रौतेला

 

HTML Comment Box is loading comments...