tarasingh
Administrator Dr. Srimati Tara Singh


www.swargvibha.in






 

 

होली पर हाइकू

 

 

लाल बिहारी लाल

 

 


1.
होली के रंग,
दीन–दुखी के संग,
खिले अजीब।
2.
बैर न भाव,
भरे सबका घाव,
संग मनाओं।
3.
दिखे अजीब,
रंग भाईचारा का.
शहर-गांव ।
4.
पावन पर्व,
होली का फागुन में,
देश को गर्व।
5.
लाल या हरा,
मिटे क्लेष जग से,
स्वर्ग-सी धरा।

 

 

 

HTML Comment Box is loading comments...