new year

नये वर्ष का नया दिन मुबारक है आपको
मिले वह सब कुछ, जिसकी चाहत है आपको

कभी न बेरहम हो, वक्त का मिज़ाज़ आप पर
हर हसीन वादियों में घूमने की इजाजत है आपको

चुप सी है मोहब्बत की फ़ज़ा,कुछ न कहिये मुँह से
ऐसे भी इशारों में कहने की आदत है आपको

काट डालिये बेबसी की हर जंज़ीर को,ख़ुदा से
बेफ़िक्री में घूमने की मिली ज़मानत है आपको

कभी न अस्त हो आपके भाग्य का चमकता सूरज
चाँद- तारों से भरा आँगन मुबारक है आपको

 

Dr Srimati Tara Singh

HTML Comment Box is loading comments...