Page 1 of 1

किसी को हार मिली यहाँ---अमरेश सिंह भदौरिया

Posted: Mon Oct 08, 2018 3:42 pm
by admin
मुक्तक
Image
Amresh Singh



किसी को हार मिली यहाँ
किसी के हिस्से जीत रही।
वसुधैव कुटुंबकम की
जहाँ सनातन रीति रही।
जिंदगी का फ़लसफ़ा यूँ
आजकल उलझा हुआ है,
कलह से होती सुबह और
शाम सुलह में बीत रही।
अमरेश सिंह भदौरिया