'तत्व, यौगिक और मिश्रण '---गौरव शुक्ल मन्योरा

Description of your first forum.
Post Reply
User avatar
admin
Site Admin
Posts: 21476
Joined: Wed Nov 16, 2011 9:23 am
Contact:

'तत्व, यौगिक और मिश्रण '---गौरव शुक्ल मन्योरा

Post by admin » Tue Oct 02, 2018 2:52 pm

गौरव शुक्ल मन्योरा
Image

शीर्षक - 'तत्व, यौगिक और मिश्रण '

हमने जाना पदार्थ बनता है , छोटे-छोटे अणु. मिलकर,
अणु बनते हैं परमाणु एक, दो, या दो से ज्यादा जुड़ने पर।

अणु रह सकता स्वतंत्र लेकिन परमाणु नहीं रह सकता है,
पर रासायनिक क्रियाओं में प्रतिभाग यही कण करता है।

सबसे पहले. कणाद ऋषि ने ईसा से छः सौ वर्ष पूर्व,
थीं इस कण की शक्तियाँ कहीं विस्मयकारी,अद्भुत,अपूर्व ।

फिर डॉल्टन रदरफोर्ड आए, कुछ ऐसे ही सिद्धांत लिए,
सब ने अपने अपने ढँग से, इस पर प्रयोग बहु भाँति किए ।

हैं कुछ पदार्थ ऐसे जिनमें परमाणु एक जैसे रहते,
परमाणु एक जैसे मिल जो अणु बनते, उन्हें तत्व कहते।

जैसे लोहा, सोना, ताँबा, चाँदी, ऑक्सीजन, हाइड्रोजन;
ब्रोमीन,हीलियम,नाइट्रोजन;क्लोरीन,कैल्शियम,एलुमिनियम;

क्रमशः Fe, Au, Cu, Ag, O, H , इनके प्रतीक,
Br व He, N, Cl, Ca, Al , लो इन्हें सीख।

अणु किसी तत्व का एक बना, कितने परमाणु मिलाने पर,
यह बात समझ में आएगी अणु सूत्र तत्व का पाने पर।

H2 का मतलब हाइड्रोजन के अणु में दो परमाणु निहित,
S8 बताता सल्फर के अणु में परमाणु आठ निश्चित।

अब तक मानव है खोज सका कुल तत्व एक सौ अट्ठारह,
बढ़ती आई है साथ समय के इनकी संख्या भी अहरह।

पढ़कर विज्ञान खोज तुम भी धरती पर तत्व नया सकते,
यह संख्या और बढ़ा सकते, दुनिया में नाम कमा सकते ।

जब भिन्न प्रकृति के मिलते हैं दो या दो से परमाणु अधिक,
निश्चित अनुपात मगर हो तब,कहलाता वह पदार्थ यौगिक।

चीनी, चूना, फिटकरी, सुहागा, सोडा, चाक, तूतिया हो ;
यह सब यौगिक के उदाहरण, सिरका या नमक,यूरिया हो।

है योगिक का अणु एक बना कितने परमाणु मिले किस के
हम जानेंगे अणु सूत्र पता होंगे जब हमको यौगिक के ।

जैसे पानी का H2O, कास्टिक सोडा NaOH,
HNO3 नाइट्रिक एसिड, कास्टिक पोटाश का KOH।

जल के अणु में हाइड्रोजन दो, ऑक्सीजन का परमाणु एक,
HCL में क्लोरीन एक, हाइड्रोजन का परमाणु एक ।

हैं अनियत अनुपात में,
मिलते यौगिक तत्व जब ;
मिश्रण कहते हम उसे,
यह भी जानो लोग सब।
Image
Mail your articles to swargvibha@gmail.com or swargvibha@ymail.com

Post Reply