Search found 21569 matches

by admin
Sat Nov 26, 2011 10:07 am
Forum: कविता
Topic: अग्निदीक्षा----- नंदिनी पाठक झा
Replies: 0
Views: 1253

अग्निदीक्षा----- नंदिनी पाठक झा

अग्निदीक्षा हम हँसे तो - हास्य को आंका गया सिरे से हम जो रोये तो- करुण रस पर समीक्षा हो गयी वीरता विभात्सा का नृत्य नंगा देख कर , हवन मेरी आज तक की सारी दीक्षा हो गयी | हम ना हो पाएंगे उतने रौद्र जितने तुम हुए , उस पराये पन कि जय , जिसमे परीक्षा हो गयी | कर लिया सारा इकठ्ठा तुमने जो करकट दिया वह भला...
by admin
Fri Nov 25, 2011 1:26 pm
Forum: कविता
Topic: उसड़ संगति---- नंदिनी पाठक झा
Replies: 0
Views: 1217

उसड़ संगति---- नंदिनी पाठक झा

उसड़ संगति अभिशप्त जन्म कि क्या भाषा , अभिशप्त जन्म का कैसा बोल ? जहा कही भी मैं पग रखूं , वह कि धरती जाती डोल | कैसे बोलूं कष्ट ह्रदय का ? कैसे दूँ मन गांठे खोल ? बदल रहा है मौसम मन का , स्नेह कि हवा दे रही दस्तक अंकुर देता बीज ह्रदय में , हुई भावना नतमस्तक | उसड़ संगती के संयोग ने , जीवन वज्र किया...
by admin
Fri Nov 25, 2011 1:25 pm
Forum: कविता
Topic: मेरा ह्रदय ---- नंदिनी पाठक झा
Replies: 0
Views: 1287

मेरा ह्रदय ---- नंदिनी पाठक झा

मेरा ह्रदय एक जगह है बाकि , जहा व्यभिचार तेरा , कर कठिन श्रम भी नहीं करता बसेरा | तुम निरंकुश , आततायी उस जगह से डरो , एक अंग रहने दो मेरा , मेरे सारे अंग वरो | इस ह्रदय कि कोख में , स्नेह कि नदिया बहीं हैं , इस ह्रदय कि कोख ने स्नेह का सूखा सहा है | यह ह्रदय है , जो तड़प कर भावना के भूख में - स्वं ...
by admin
Fri Nov 25, 2011 1:24 pm
Forum: कविता
Topic: दिल का मेरा ये हाल .....---- नंदिनी पाठक झा
Replies: 0
Views: 1409

दिल का मेरा ये हाल .....---- नंदिनी पाठक झा

दिल का मेरा ये हाल बिन बिका लौटा हुआ सा- माल है . बाज़ार में तेरे दिल का मेरा ये हाल है| बेच आती दाम ऊंचे | अगर होती यह बिकाऊ.. आत्मा तो है हमारी . सबल है निकल नहीं पाऊ साख गिर गयी . किस तरह अब स्नेह की बाज़ार में ऊँची लगी है , सिर्फ बोली देह की | ---- नंदिनी पाठक झा
by admin
Fri Nov 25, 2011 1:24 pm
Forum: कविता
Topic: पागुर------ नंदिनी पाठक झा
Replies: 0
Views: 1317

पागुर------ नंदिनी पाठक झा

2 पागुर कहो दोस्त , जब मुझे चबाया , पागुर कहाँ किया ? जब चुगली खायी , कांपा नहीं जिया ? अहो दोस्त , मैं तो पानी था | यूँ ही पी जाते पैने दांत दिखा कर तुमने अच्छा नहीं किया | दबी सांस में साँसे खीची , कैसे सांस लिया ? बंधन था कच्चे धागे सा , फांस गले क्यों लिया मेरा तो जीवन था छुद्र देने स्नेह तुम्हे...
by admin
Fri Nov 25, 2011 1:23 pm
Forum: कविता
Topic: आत्म्च्युत पुरुष------ नंदिनी पाठक झा
Replies: 0
Views: 1444

आत्म्च्युत पुरुष------ नंदिनी पाठक झा

1 आत्म्च्युत पुरुष जहा मिले मौका , मुंह मारे | गिद्ध के बड़े चोंच भी हारे कैसे पाया स्वाद मांस में ? आत्म्च्युत पुरुष बता रे ! कैसे तूने घात लगाया ? जिस हड्डी में हाथ लगाया , उस नस में फैले खून का - तू विस्तार बता रे ! माँ का दूध , पिता कि शान पचा ना पाया ,हूँ हैरान तेरे धर्म का कौन बटखरा बोलो बात क...
by admin
Wed Nov 23, 2011 10:01 am
Forum: press news
Topic: तमाशा के लिए शशांक को सम्मान
Replies: 0
Views: 1783

तमाशा के लिए शशांक को सम्मान

तमाशा के लिए शशांक को सम्मान ---------------------------- 22 नवम्बर/पिथौरागढ़ राजकीय इण्टर कालेज दुबौला में कार्यरत शिक्षक साहित्यकार शशांक मिश्र भारती को उनकी लघुकथा-तमाशा- के लिए गत 20 नवम्बर को दिनेशपुर में आयोजित हुए अखिल भारतीय लघुकथा प्रतियोगिता 2011 के सम्मान समारोह में सम्मानित किया गया। इसक...
by admin
Wed Nov 23, 2011 9:57 am
Forum: आलेख
Topic: विदेशों से केवल तकनीक ही नहीं, इंसाफ करना भी सीखें!
Replies: 0
Views: 1690

विदेशों से केवल तकनीक ही नहीं, इंसाफ करना भी सीखें!

डॉ. पुरुषोत्तम मीणा ‘निरंकुश’ भारत में विदेशी वस्तुओं और तकनीक को अपनाने वालों की अच्छी खासी तादाद है| विदेशी सामग्री को अपनाने के प्रति हर आम-ओ-खास में शर्म नहीं, बल्कि गर्व का भाव है| इस प्रकार से आजादी के समय में विदेशी कपड़ों की होली जलाने का भाव अब भारत में ध्वस्त हो चुका है| अब तो स्वदेशी की ब...
by admin
Wed Nov 23, 2011 9:52 am
Forum: press news
Topic: शीला दीक्षित द्वारा ‘आओ घूमें अपना देश’ पुस्तक का लोकार्पण
Replies: 0
Views: 2013

शीला दीक्षित द्वारा ‘आओ घूमें अपना देश’ पुस्तक का लोकार्पण

शीला दीक्षित द्वारा ‘आओ घूमें अपना देश’ पुस्तक का लोकार्पण नई दिल्ली, 19 नवम्बर 2011 दिल्ली की मुख्यमंत्री श्रीमती शीला दीक्षित ने आज अपने निवास स्थान पर आयोजित एक विचारसंगीति में प्रख्यात साहित्यकार एवं पत्रकार पुखराज सेठिया द्वारा लिखित पर्यटन ग्रंथ ‘आओ घूमें अपना देश’ का लोकार्पण करते हुए कहा कि ...